Entertainment
Trending

World Cinema History : भारत से नहीं यहाँ से शुरू हुआ फ़िल्मी सफर, जाने किस तरह

World Cinema History

Contents hide

World Cinema History

World Film History
World Cinema History

World Cinema History आज लगभग 130 साल पुरानी हो चुकी है उससे पहले सोचा जाता था कि परदे पर किसी की भी चलती तस्वीर लेना लगभग नामुमकिन है लेकिन उस समय के इस नामुमकिन काम को एडी बियर्ड मुइब्रिज ने मुमकिन कर दिखाया लेकिन हम आपको बता दें, मुइब्रिज कोई फिल्ममेकर नहीं बल्कि एक वैज्ञानिक और साथ में एक फोटोग्राफर थे।

World Cinema History उन्होंने सबसे पहले घोड़ों पर काम किया और उनकी भागते हुए तस्वीरें ली और ये भी पहली बार देखा कि घोड़े के चारों पैर एक समय हवा में होते हैं, इसके लिए उन्होंने 40 कैमरे लगाए और फिर सब कैमरे के एक साथ फोटो देखने के बाद पता चल गया कि मोशन फिल्म भी बनायीं जा सकती है और यही प्रयास फिल्मों के निर्माण के लिए नींव का पत्थर था।

लुईस ली प्रिंस ने बनायी थी पहली मोशन फिल्म

World Film History
World Cinema History

14 अक्टूबर 1888 फिल्म इतिहास का वह पहला दिन था जिस दिन दुनिया कि सबसे पहली मोशन फिल्म को शूट किया गया इसे एक फ्रेंच वैज्ञानिक लुईस ली प्रिंस द्वारा शूट किया गया था और यह फिल्म लगभग 2 सेकेण्ड की ही थी।

World Cinema History लुईस ली प्रिंस इस फिल्म को दिखाने से पहले ही अचानक लापता हो गए और फिर उसके बाद उनका कभी भी पता नहीं चला वे इस फिल्म को मैनहटन में 1890 में इस फिल्म को दिखने वाले थे और उन्होंने ही दुनिया के सबसे पहले मोशन कैमरे का अविष्कार किया था।

Also read –

10 Most Violence movies : वहशीपन, क्रूरता और हिंसा के साथ एडल्ट सीन, कुछ ऐसी हैं ये फ़िल्में

1895 में लुमियर ब्रदर्स ने बनायी दुनिया की पहली फिल्म

अगर हम दुनिया की सबसे पहली फिल्म के बारे में बात करें तो उसे बनाने का श्रेय लुमियर ब्रदर्स को जाता है जिन्होंने दुनिया की सबसे पहली फिल्म ‘द अराइवल ऑफ़ द ट्रैन’ 1895 में बनायी। इस फिल्म में जब लोग ट्रैन को परदे पर चलता हुआ देखते थे तो डरकर भाग जाते थे उन्हें ऐसा लगता था कि ट्रैन पर्दे से निकलकर उनके पास आ जायेगी।

अगर हम बात करें फिल्मों के लिए सेट डिजाइन करने कि तो सबसे पहले इस काम को जादूगर जॉर्ज मेलिस ने किया था उन्होंने लुमियर ब्रदर्स के कैमरे को मुंह मांगी कीमत देकर खरीद लिया था और फिर उन्होंने ही पहली फिक्शनल फिल्म ‘ए ट्रिप टू मून’ बनायी थी जिसमे पहली बार चाँद को दिखाया गया था।

‘द किस’ दुनिया की सबसे पहली बोल्ड कंटेंट फिल्म

दुनिया की सबसे पहली बोल्ड कंटेंट वाली फिल्म 1900 में आयी ‘द किस’ थी तो यह तो स्वभाविक है और आप अंदाज़ा भी लगा सकते हैं कि उस समय इस फिल्म को लेकर कितना विवाद रहा होगा , इसलिए इस फिल्म को आप दुनिया कीसबसे पहली विवादित फिल्म की श्रेणी में भी रख सकते हैं।

दुनिया की सबसे पहली मल्टी रील फिल्म

दुनिया की सबसे पहली मल्टी रील फिल्म ‘द स्टोरी ऑफ़ कैली गेंग’ थी जो 1906 में बनकर तैयार हुई थी और इसे ऑस्ट्रेलिया के एक प्रोडक्शन हाउस में बनाया गया था।

वहीँ अगर पहली एनिमेटिड फिल्म की बात की जाए तो वह ‘Pauvrre pierrot’ थी कमर्शियल यूज के लिए बनी सबसे पहली फिल्म’ द किस’ रही जो 1896 में बनी। ऐसे ही दुनिया की सबसे पहली रोमांटिक फिल्म ‘ समथिंग गुड – द नीग्रो किस’ 1898 में आयी थी।

Also read –

Shamshera: इस दिन रिलीज हो रही है शमशेरा, 7 जुलाई को होगा सिनेमा घर में 3D ट्रेलर रिलीज

भारत में बनी पहली फिल्म ‘द फ्लावर ऑफ़ पर्शिया’

सबसे पहले भारत में फिल्म जब 200 लोगों ने देखी थी जब लुमियर ब्रदर्स अपनी फ़िल्में लेकर ऑस्ट्रेलिया जा रहे थे लेकिन उनका टूर केन्सिल हो गया और वह भारत में रुक गए।

भारत में लुमियर ब्रदर्स वाटसन होटल में रुके तो उन्हेंने भारत में ही फिल्म दिखने का मन बना लिया और इस तरह वाटसन होटल में पहली बार 200 लोगों ने इस फिल्म को देखा।

फिल्म को देखकर कई लोग डरकर भाग गए थे। ये 7 जुलाई 1896 की बात है फिर इसके दो साल बाद 1898 में भारत में पहली फिल्म ‘द फ्लावर ऑफ़ पर्शिया’ बनी लेकिन किसी भारतीय द्वारा बनाई गयी पहली फिल्म ‘राजा हरिश्चंद’ थी जो 1913 में बनायी गयी थी।

बॉक्स ऑफिस की शुरुआत

World Cinema History फिल्मों के कलेक्शन के हिसाब- किताब रखने के लिए बॉक्स ऑफिस की शुरुआत 1904 में हुई थी जिससे कि फिल्मों की कमाई का अंदाज़ा लगाया जा सके l

पहले बॉक्स ऑफिस फिल्मों के टिकट विंडो के लिए इस्तेमाल होता था लेकिन 1904 से ये बॉक्स ऑफिस शब्द फिल्मों की कमाई के लिए यूज होने लगा l

दुनिया भर में हैं 150 से ऊपर सिनेमा इंडस्ट्रीज

दुनिया भर में लगभग 167 सिनेमा इंडस्ट्रीज फिल्मों का उत्पादन कर रही हैं जिनमे अमेरिका फ्रांस और जर्मन मुख्य हैं भारत की बॉलीवुड इंडस्ट्री भी इनमे से एक है इनकी सालाना कमाई लगभग 1 लाख 70 हज़ार करोड़ रूपये है जो कोरोना काल के बाद की है अगर उससे पहले की बात करें तो ये लगभग तीन गुनी थी l

वर्ल्ड वार के बाद बदला फिल्मों का ज़माना

1914 से 1918 में पहले विश्व युद्ध के बाद विश्व सिनेमा की तस्वीर ही बदल गयी जहाँ पहले कुछ मिनट की ही फ़िल्में बनी थीं अब उनकी जगह फीचर फ़िल्में बनने लगी दुनिया की पहली फीचर फिल्म 1915 में ‘ द बर्थ ऑफ़ ए नेशन’ थी जोकि 80 मिनट लम्बी थी l

दोस्तों, आपको ये पोस्ट कैसी लगी ज़रूर बताएं और हमारे फेसबुक पेज को फॉलो करना न भूलें। धन्यवाद

दुनिया की सबसे पहली फिल्म कौन सी है ?

Ans- दुनिया की सबसे पहली फिल्म घोड़ों के भागने की फिल्म थी जो एडी बियर्ड मुइब्रिज ने 1878 में बनायीं थी इसके बाद 1888 में पहली मोशन फिल्म बनी थी l

दुनिया में इस समय कितनी फिल्म इंडस्ट्री हैं ?

Ans – दुनिया में इस समय लगभग 167 फिल्म इंडस्ट्री काम कर रही है l

भारत मे सबसे पहली फिल्म कौन सी थी ?

Ans – 1898 में भारत में पहली फिल्म ‘द फ्लावर ऑफ़ पर्शिया’ बनी लेकिन किसी भारतीय द्वारा बनाई गयी पहली फिल्म ‘राजा हरिश्चंद’ थी जो 1913 में बनायी गयी थी।

भारत में सबसे पहली बोलती फिल्म कौन सी थी ?

Ans – ‘आलम आरा’ भारत की पहली बोलती फिल्म थी l

भारत में फिल्म पितामह किसे कहा जाता है ?

Ans – भारत में दादा साहब फाल्के को फिल्म पितामह कहा जाता है l

पहली मोशन फिल्म किसने बनायी ?

Ans – पहली मोशन फिल्म लुइस ली प्रिंस ने 1888 में बनायीं थी l

5/5 - (1 vote)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button