Chandra Grahan 2021: साल 2021 का पहला चंद्र ग्रहण, जाने कहाँ कहाँ से देख सकेंगे आप?

आज यानी 26 मई 2021 को साल का पहला Chandra Grahan 2021 होने जा रहा है और लोगों में इसे देखने और इसके बारे में जानने की उत्सुकता बढ़ती जा रही है। चंद्र ग्रहण और सूर्य ग्रहण यह ऐसी खगोलीय घटनाएं हैं जो लोगों को पुरातन काल से ही आकर्षित करती आ रही हैं और लोग इसके बारे में जानने के लिए हमेशा ही उत्सुक नज़र आते हैं। तो आइये जानते हैं कुछ आज होने वाले Chandra Grahan के बारे में।

Chandra Grahan 2021
Chandra Grahan 2021

साल 2021 का पहला पूर्ण चंद्र ग्रहण

आज 26 मई 2021 को होने वाला चंद्र ग्रहण पूर्ण Chandra Grahan होगा जो चन्द्रमा पर पृथ्वी की छाया पड़ने के कारण होता है और इस वजह से चन्द्रमा नारगी रंग का दिखाई देता है जिसे ब्लड मून भी कहा जाता है। वैसे तो आज होने वाला चंद्र ग्रहण पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा लेकिन यह भारत से आंशिक चंद्र ग्रहण के रूप में ही दिखाई देगा।

क्या और कैसे होता है चंद्र ग्रहण

जैसा कि आप जानते हैं कि हमारी पृत्वी सूर्य के चरों ओर चक्कर लगाती है ओर चन्द्रमा इसी तरह से हमारी पृथ्वी के चरों ओर चक्कर लगता है तो पूर्णिमा के दिन चक्कर लगते हुए चन्द्रमा सूर्य ओर पृथ्वी के बीच आ जाता है तो पृथ्वी की छाया उस पर पड़ने लगती है ओर कुछ समय के लिए चन्द्रमा पृथ्वी की छाया में डूब जाता है ओर पृथ्वी से देखने पर उसका वह भाग अंधकारमय दिखाई देता है। इसे ही Chandra Grahan कहा जाता है।

यह भी पढ़ें- Radhika Apte Nude Video Leak: राधिका आप्टे को होना पड़ा घर पर कैद

कहाँ से दिखाई देगा पूर्ण चंद्र ग्रहण

अगर आप पूर्ण Chandra Grahan देखना चाहते है यानी सुपर ब्लड मून तो आपके लिए यह एक निराशा की बात हो सकती है क्योंकि भारत में यह आंशिक रूप से ही दिखाई देने वाला है तो आप भारत से सुपर ब्लड मून को नहीं देख पाएंगे। सुपर ब्लड मून देखने के लिए आपको उस जगह पर जाना गोगा जहाँ से पूर्ण चंद्र ग्रहण को देखा जा सकता है। इसे पश्चिमी अमेरिका के कुछ भागों तथा ऑस्ट्रेलिया, पश्चिमी दक्षिणी अमेरिका या दक्षिणी पूर्व एशिया के देशों से देखा जा सकता है। इसके अलावा इसे अटलांटिक, हिन्द महासागर, प्रशांत महासागर और अंटार्कटिका से भी देखा जा सकता है।

किस समय होगा चंद्र ग्रहण

भारतीय समयानुसार आज 26 मई 2021 को दोपहर 2 बजकर 17 मिनट पर इसकी शुरुआत होगी और शाम 7 बजकर 19 मिनट पर समाप्त हो जाएगा।

हम कैसे देख सकते हैं सुपर ब्लड मून

जैसा कि अब आप जान ही गए हैं कि भारत से आप सुपर ब्लड मून नहीं देख पाएंगे क्योकि यह भारत में आंशिक चंद्र ग्रहण के रूप में ही दिखाई देने वाला है तो हम इसे कैसे देख सकते हैं तो आप चिंता न करें आप अपने घर से ही सुपर ब्लड मून देख सकते हैं इसके लिए आपको कहीं जाने कि ज़रुरत नहीं है। नासा के सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर आप इसका सीधा प्रसारण देख सकते हैं तथा इसके अलावा भी कुछ और वेबसाइट इसका सीधा प्रसारण करती हैं तो आप वहां से भी सुपर ब्लड मून को देखकर आनंद ले सकते हैं। कई यूट्यूब चैनल भी इसकी लाइव स्ट्रीमिंग करते हैं आप वहां से भी इसे देख सकते हैं।

क्या सूतक काल लगेगा

सूतक काल उस ग्रहण का मान्य होता है जिसे हम आँखों से हम खुद ही देख सकें लेकिन यह चंद्र ग्रहण भारत में नंगी आँखों से नहीं दिखाई देगा इसलिए कोई सूतक काल मान्य नहीं होगा। इस तरह के चंद्र ग्रहण को देखने के लिए कुछ विशेष उपकरणों की ज़रुरत पड़ती है।

क्या होता है आंशिक ग्रहण

आंशिक चंद्र ग्रहण उसे कहते हैं जब चन्द्रमा पृथ्वी की वास्तविक छाया से होकर न गुज़रे और उसकी उपच्छाया से ही होकर निकलता है तो इसमें चन्द्रमा के आकार और रंग में कोई अंतर नहीं आता है बस चन्द्रमा पर बहुत हलकी सी छाया ही दिखाई देती है। इसे ही आंशिक चंद्र ग्रहण के नाम से जाना जाता है।

क्या बताता है ज्योतिष इस चंद्र ग्रहण के बारे में

देखिये, विज्ञान और ज्योतिष दोनों ही के अपने-अपने अलग पहलू हैं अगर हम धार्मिक दृष्टि से देखें तो ज्योतिष भी बहुत महत्वपूर्ण हो जाता है तो आइये ज्योतिष के अनुसार भी इसे जान लेते हैं। ज्योतिष के अनुसार यह आंशिक चंद्र ग्रहण वृश्चिक राशि और अनुराधा नक्षत्र में लगने जा रहा है जिसके कारण इस राशि के जातकों में ग्रहण के दौरान अज्ञात भय, मानसिक तनाव और भ्र्म का अहसास हो सकता है।

हमारे साथ फेसबुक पेज से जुड़ें।

Hello, everyone Myself Anmol Mishra I'm from Rampur Uttar Pradesh. Welcome to our blog Tourkro Here we will provide you only interesting and original content, which you will like very much.

Leave a Reply

Share via
Copy link
Powered by Social Snap
%d bloggers like this: